Read here Latest posts of Gharelu Upay. Looking for the Gharelu Upay, if yes then you have landed to right place. nuskheinhindi.com provide latest collection of Gharelu Upay.

शुगर में परहेज ~ शुगर के लक्षण ~ मधुमेह के लक्षण ~ डायबिटीज के लक्षण

शुगर क्या है। क्या आप जानते है? नही, तो हम आपको बताते है शुगर के बारे में। ज़रा ध्यान से पढ़ना कही शुगर आपको तो नही है। शुगर को मधुमेह, डायबिटीज भी कहते है। शुगर का दूसरा नाम धीमी मौत भी है। शुगर जिसको एक बार हो जाती है तो वो उसका पीछा नही छोड़ती है। ज्यादा मीठा खाने से शरीर में शुगर लेवल बढ़ जाता है जिसकी वजह से डायबिटीज जैसी बीमारी हो जाती है।

शुगर एक ख़तरनाक बीमारी है जो पहले 40 - 45 की उम्र के बाद होती थी परंतु आजकल ये बीमारी कम उम्र वालो को भी होने लगी है। शुगर खराब लाइफस्टाइल के कारण होती है जिसमे व्यक्ति को किडनी खराब, हृदय रोग, स्ट्रोक होने की परेशानी और आंखों को नुकसान होता है। डायबिटीज एक अनुवांशिक रोग हैं जिन व्यक्तियों के माता-पिता में से किसी एक को भी डायबिटीज है तो उनके बच्चो को भी डायबिटीज होने का खतरा रहता है।


शुगर के लक्षण ~ मधुमेह के लक्षण ~ डायबिटीज के लक्षण ~ Sugar ke Lakshan ~ Diabetes Symptoms in Hindi :-


1. ज्यादा प्यास लगना :- शुगर में रोगी को ज़्यादा प्यास लगती है यह भी एक डायबिटीज होने का लक्षण है।

2. बार-बार पेशाब का आना :- डायबिटीज होने पर बार-बार पेशाब आता है। शरीर में ज्यादा मात्रा में शुगर जमा होने पर यह पेशाब के रास्ते से बाहर निकलती है।

3. आँखों की रौशनी कम होना :- डायबिटीज होने पर आँखों की रौशनी कम होने लगती है डायबिटीज का सीधा असर आंखों की रोशनी पर पड़ता है।

4. थकान और कमजोरी :- थोड़ा सा काम करने पर थकान और कमजोरी का महसूस होना यह डायबिटीज का संकेत हो सकता है। जब की आप ने भरपूर नींद ली है और आपको लग रहा की नींद पूरी नहीं हुई है।

5. जख्म देरी से भरना :- डायबिटीज होने पर आपका जख्म या घाव जल्दी नहीं भरता है। छोटी सी खरोंच भी धीरे-धीरे बडे़ घाव में बदल जाना।

6. बार - बार फोड़े-फुंसियां निकलना :- शरीर में बार-बार फोड़े फुंसियां का निकलना भी एक डायबिटीज का संकेत हो सकता है।

7. ज्यादा भूख लगना :- शुगर या डायबिटीज होने पर लोगो को ज्यादा भूख लगने लगती है।

8. वजन में कमी आना :- बिना किसी कारण के वजन कम होना भी एक डायबिटीज का संकेत हो सकता है।

9. गुप्तांगों पर खुजली वाले जख्म होना :- गुप्तांगों पर खुजली वाले जख्म होना भी डायबिटीज का संकेत हो सकता है।

10. मुंह सूखना :- डायबिटीज होने पर बार बार तेज प्यास लगती है और मुंह में सूखापन रहता है।

11. हाथ और पैर में चीटियां चलने जैसा महसूस होना :- हाथ और पैर में चीटियां चलने जैसा महसूस होना भी शुगर होने का संकेत है।

12. चिड़चिड़ापन :- पूरे दिन मूड चिड़चिड़ापन होना किसी काम में मन नही लगना।

13. चक्कर आना :- शरीर में थकान, कमजोरी का महसूस होना और चक्कर आना।

14. बालों का झड़ना :- ज़्यादा बालों का झड़ना भी डायबिटीज का होने के संकेत है

शुगर होने के बड़े कारण :- 


1. अनुवांशिकता :- डायबिटीज एक अनुवांशिक रोग हैं जिन व्यक्तियों के माता-पिता में से किसी एक को भी डायबिटीज है तो उनके बच्चो को भी डायबिटीज होने का खतरा रहता है।

2. नींद पूरी न होना :- आजकल की लाइफस्टाइल देर रात तक घूमना, देरी से सोना से डायबिटीज होने का खतरा रहता है।

3. कम पानी :- दिन में ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीना चाहिए ताकि शरीर में पानी की कमी ना रहे।

4. देर से खाना :- देर से खाना खाने से भोजन पच नही पाता है। जिससे शरीर में शुगर लेवल में बढ़ोतरी होती है।

5. मोटापा :- मोटापा बढ़ने से इन्सुलिन कम मात्रा बनता है जिससे शरीर में शुगर लेवल में बढ़ोतरी होती है।

6. ज्यादा दवाइयों के सेवन :- ज्यादा दवाइयों के सेवन से इन्सुलिन कम मात्रा में बनता है।

7. बहुत अधिक खाना :- बहुत अधिक खाना खाने से शरीर में फैट जमा होने लगता है। जिससे इंसुलिन प्रभावित होती हैं।

8. व्यायाम न करना :- व्यायाम न करने से धीरे - धीरे शरीर में शुगर का लेवल में बढ़ जाता है।

9. मीठा खाना :- ज्यादा मीठा खाने से शरीर में शुगर लेवल बढ़ जाता है जिसकी वजह से डायबिटीज जैसी बीमारी हो जाती है।

10. जंक फूड :- जंक फ़ूड या फ़ास्ट फ़ूड से शुगर होने की सम्भावना ज्यादा होती है. क्योकि इस तरह के खाने में वसा ज्यादा होती है।

#शुगर में परहेज, #शुगर का घरेलू इलाज, #diabetes treatment in hindi, #मधुमेह का घरेलू उपचार, #मधुमेह का आयुर्वेदिक उपचार, #शुगर की देशी दवा, #मधुमेह मे परहेज, #शुगर कम करने के उपाय, #diabetes ke lakshan, #diabetes symptoms in hindi, #शुगर के लक्षण, #मधुमेह के लक्षण, #sugar ke lakshan, #डायबिटीज के लक्षण

बुखार के घरेलू इलाज - Desi Gharelu ilaj For Fever In Hindi


Bukhar ka gharelu ilaj in hindi : - Kisi chij ke infection or Badalte mausam ka asar hamare sharir par padta hai, Bukhar sardi ke karan bhi ho jata hai or anay kisi wajahse bhi, Yanha hum aapko bata rahe hai bukhar ka desi ilaj in hindi, bukhar in hindi, bukhar ka ilaj in hindi, sardi ke bukhar ka ilaj in hindi. Viral fever kisi virus ki wajah se hota hai iska jaldi ilaj na karaya gaya to dusro ko bhi infection ho sakta hai.



Bukhar main Jayada dwaiyo ka istemaal karna sharir par bura asar dalta hai, aaiye jaane bukhar ko theek karne ke gharelu tarike.

बुखार के देसी आयुर्वेदिक घरेलू इलाज : Bukhar ka Desi ilaj in Hindi


1. Bukhar ki wajahse sharir main paani ki kami ho jaati hai isliye jayada matra main paani pina chahye, pani ubal kar peeye.

2. Tulsi or adarak ki chaay ka sevan kare.

3. Garmi ka kaaran hone waale bukhar main kachhe aam ka panna peeye ya iski sabji bana kar khaaye.

4. Pyaj ke tukde ko pairo ke talwe par baandhe isse bukhar jaldi uttar jaayega.

5. Bukhar ka desi ilaj in hindi bina doodh ki chaaye peeye jisme adarak or nimbu ka ras mila ho.

6. Bachho ke bukhar ka desi gharelu ilaj in hindi jaane ki sir par thande paani ki pattiya rakhe isse bukhar kam ho jaaayega.

7. Bukhar ka ilaj in hindi kachhe lahsun ko chaba chaba kar khaaye.

8. Jayada kapde pahane jisse pasina aaye, pasina aane se bukhar kam hota hai.

9. Mulethi ko ubalkar or chnkar us paani main thodi matra me suger milakar le.

10. Khansi or bukhar dono hone se kali mirch peeskar powder bana le isme shahad milakar khaane se aaram milega.

11. Thande paani se nahana bukhar ko kam karta hai.

12. Bukhar ko kam karne ke liye jaruri hai jis kamre main aap ho wo kamra thanda ho, sharir thada hoga to bukhar nahi hoga.

13. Bachho ke bukhar ka ilaj hai ki bachho ke pairo ke niche ke bhag ko garam tel se malish kare isse uno aaram milega.

14. 1 saal se kam age ke bachho ko bukhar aane par apple sider vinegar peelaye.

15. Fever ka ilaj in hindi jaane kishmish ko garam paani main bhigokar naram kare or tod kar rogi ko khilaaye.

16. Yastimadhu power or shahad milakar khaaye.

17. Laung ka powder or shahad milakar khaane se bhi bukhar main aaram milta hai.

18. Garam paani main Nilgiri ke tel ki boonde dalkar steam ya bhaapene se sardi se hone waale bukhar or jukham theek ho jaate hai.

19. Bukhar ka desi ilaj hai ki bukhar hone par gehu ki ghas ke ras ka sevan kare.

20. Nariyal paani or mosami ka juice peena acha hota hai.

Gharelu Nuskhe for Cold - सर्दी और खाँसी के घरेलू नुस्खे

Gharelu Nuskhe for Cold, Sardi Jukam ke Gharelu Nuskhe in Hindi, सर्दी जुकाम का उपचार, Jukam ka Desi Ram Ban ilaj, Home Remedies For Summer Cold, Home Remedies for Common Cold in Hindi, Sardi Jukam Ke Gharelu Upay.

Gharelu Nuskhe for Cold - सर्दी और खाँसी के घरेलू नुस्खे





Gharelu Nuskhe for Cough and Cold :-

1. Adrak ka ras aur shehad le, dono ko barabar matra me milakar khayen.

2. Garam doodh me chhuhaare ubaal le, ab usme thodi se kesar aur ilaichi mila le aur iska sevan karen.

3. 1-2 laung ko chabane se cold me aaram milta hai.

4. Garam pani ki bhap lene se Jukam me aaram milta hai.

सफेद दांत के घरेलू उपाय - Gharelu Nuskhe for White Teeth in Hindi

Peele Dant Safed Kaise Kare, Yellow Teeth Ke Gharelu Nuskhe, Gharelu Nuskhe for White Teeth in Hindi, Majboot aur Chamakdar daanto ke liye gharelu nuskhe, Teeth White Kaise Kare, Home Remedies to Whiten Yellow Teeth.


सफेद दांत के घरेलू उपाय - Gharelu Nuskhe for White Teeth in Hindi




सफेद दांतों से हमारी पर्सनैलिटी को एक नई पहचान मिलती है कैमिकल्स, तंबाकू और कलर्ड फूड्स के ज्यादा इस्तेमाल से दांतों में पीलापन आ जाता है। कुछ लोग तो हंसते हुए अपने मुंह पर हाथ रख लेते हैं। दांत सफेद न होने पर दूसरों के सामने शर्मिदी महसूस होने लगती है। तो क्या आप भी साफ और चमकीले दांत पाना चाहते हैं

1. नीम :- रोजाना नीम की दातून करें। नीम में दांत सफेद बनाने और बैक्टीरिया खत्म करने के लाजवाब गुण पाए जाते हैं।

2. बेकिंग सोडा :- एक चम्मच मीठा बेकिंग और एक चुटकी नमक मिला लें। इसमें थोड़ा-सा पानी मिलाकर रोजाना अपने दांत साफ करें।

3. सेब :- रोजाना एक या दो सेब जरूर खाएं और खूब चबा चबा कर खाएं। इससे से दांत सफेद तथा मजबूत बनते हैं।

4. नारियल तेल :- हर सुबह 10 -15 मिनट नारियल के तेल से दांत साफ करें।

5. स्ट्रॉबेरी :- एक स्ट्रॉबेरी को अच्छी तरह से मैश कर लें और टूथब्रश की मदद से दांतों पर 4 - 5 मिनट तक रखड़ें।

6. गाजर का सेवन :- गाजर का दांतों के दाग-धब्बे दूर करने में मदद इसलिए मिलती है

7. नमक :- सुबह टूथपेस्ट की तरह नमक को दांतों की सफाई के लिए इस्तेमाल करे


Gharelu Nuskhe for Pimples Keel Muhase Acne - मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय

Pimples Keel Muhase Acne Ke Liye Gharelu Nuskhe, Pimples Problem Solution in Hindi, Home Remedies for Acne, Muhase Se Chutkara, Muhase Aur Acne ka ilaj, Muhase (pimples) hatane ke gharelu upay.

गर्मियों के मौसम में धूप, धूल और पसीने से चेहरे पर कील-मुंहासे निकल आते है. हम आपको घरेलू नुस्खे बता रहे हैं जिनकी मदद से Pimples, मुँहासे आसानी से दूर हो जाएगी।

Gharelu Nuskhe for Pimples Keel Muhase Acne - मुँहासे हटाने के लिए घरेलु उपाय



1. Baking Soda :-  बेकिंग सोडा के इस्तेमाल कील-मुंहासों को दूर किया जा सकता है एक चम्मच बेकिंग सोडा को 2 चम्मच पानी में मिला ले. और एक गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को कील-मुंहासों पर लगा ले. इसे फेस पर 25 -30 मिनिट लगा रहने दे. फिर फेस को पानी से धो ले.

2. नीम :- 1 चम्मच बेसन और 2 चम्मच नीम पाउडर में 4 चम्मच दूध मिलाकर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर 30 मिनट तक सूखने दें और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

3. अंडा :- अंडे की सफेदी को एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर लगाने से फायदा होता है. इस पेस्ट को लगाकर छोड़ दें और सूखने दें। फिर गुनगुने पानी से धो लें।

4. चमेली का तेल :- चमेली के तेल को सुहागा में मिला ले. और रात को सोते समय चेहरे पर लगाकर मसलें. सुबह बेसन को पानी से गीला कर गाढ़ा-गाढ़ा चेहरे पर लगाकर मसलें और पानी से चेहरा धो डालें.

5. जायफल :- जायफल को साफ पत्थर पर पानी डालकर घिसकर ले. फिर इस लेप को कील-मुंहासों पर लगाएं.

6. हल्दी :- हल्दी का लेप त्वचा को साफ करने में मददगार है। 


अस्थमा दमा का घरेलू इलाज - Gharelu Nuskhe for Asthma - Dama ka ilaj

Asthma ka ilaj ke Upay, Dama ka ilaj, Home Remedies for Asthma, Asthma Symptoms Aur Treatment, Saans Ki Bimari Ka Desi Ilaj In Hindi, Breathlessness, Swas Rog.

अस्थमा दमा का घरेलू इलाज - Gharelu Nuskhe for Asthma - Dama ka ilaj




  • धूल तथा धुंए भरे वातावरण से बचना चाहिए। 
  • ग्रीन टी कम से कम 2 बार गरम गरम पीनी चाहिए| इसे अपनी आदत में दाल लें, क्योंकि इसमें पाई जाने वाले तत्व दमा को मिटाने में सहायक होती हैं |
  • एक चम्मच अदरक के रस की मेथी के एक कप काढ़े में शहद मिलाकर खाने से दमे में लाभ होता है |
  • चार-छः लौंग एक कप पानी में उबालकर और शहद मिलाकर दिन में तीन बार थोड़ा-थोड़ा पीने से दमा ठीक होता है |
  • शराब, तम्बाकू तथा अन्य नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • 3 से 4 अंजीर रात भर भिगोकर रखें। और अगले दिन खाली पेट में इन अंजीरों को खाकर पानी पियें।
  • लहसुन, प्याज का रस, पोदीने का रस, छोटी इलायची, हल्दी (दूध के साथ) लेते रहने से दमे के रोगी की लाभ होता है |

बदन दर्द के घरेलु नुस्खे - Gharelu Nuskhe for Body Pain in Hindi

Gharelu Nuskhe for body pain in hindi, Body and Muscle Pain Remedies in Hindi, Reduce muscle pain, Shareer ka dard, Badan dard ke gharelu upchar. Badan Dard Ke Gharelu Upchar, Badan Dard ke upay, Badan Dard ke ayuvedic upay.




शरीर के जोड़ों में घुटने, हाथ, कलाई, हिप्स, कमर, गर्दन आदि में अकड़न और दर्द हो जाता है। अक्‍सर लोग कमर दर्द और पीठ दर्द की समस्‍या से जूझ रहे होते हैं।

Body Pain Ke Reasons :-


1. तनाव : तनाव के कारण बॉडी मे दर्द हो सकता है

2. कंप्यूटर :- सिर झुकाकर कंप्यूटर पर काम करने से और बेड पर आधा लेटकर टीवी देखने से दर्द हो सकता है।

3. मोटा तकिया : बहुत मोटा तकिया लगाकर सोने से गर्द्न मे दर्द हो जाता है

4. जीवनशैली :- आजकल की जीवनशैली, खान-पान की आदतें, एक ही जगह पर बैठे रहना बॉडी को प्रभावित करती है।

5. आराम :- दिनभर आराम ना कर पाने के कारण भी कमर दर्द और पैर दर्द होना आम बात है।


शरीर दर्द के लिये घरेलू उपाय - Home Remedies for Body Pain :-



1. अखरोट :- अखरोट के तेल की मालिश करने से हाथ पैरों की ऐंठन दर्द जल्दी ही दूर हो जाता है।

2. फल और सब्जियों :- फल और सब्जियों का सेवन अधिक से अधिक करें।

3. जीवनशैली :-  जीवनशैली और खान-पान की आदतें को सुधारे।

4. आराम :- हलके मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने के लिए उन्हें पर्याप्त आराम दें।

5. सिकाई करे :-  मांसपेशियो को सेंक देने से काफी आराम मिलता है। गर्म पानी और एक चम्मच नमक मिलाएं, फिर दर्द वाली जगह पर सिकाई करे।

6. बर्फ का टुकड़ा :- मांसपेशियों में खिंचाव की वजह से सूजन आ जाने पर बर्फ का टुकड़ा लेकर उससे से 10 - 15 मालिश करते रहे।

7. सेब का सिरका :- मांसपेशियों तथा पैरों की अकडन को दूर करता है। एक या दो चम्मच सेब का सिरका पीने से काफ़ी लाभ होगा।

घमौरियां के घरेलू उपाय - घमौरियाँ का इलाज

घमौरी काफी आम प्राब्लम है जो गर्मियों के मौसम में होती हैं। पसीने और उमस के कारण घमौरी हो जाती हैं।गर्मी मे बहुत पसीना से शरीर के रोमछिद्र बंद हो जाते हैं जिसके कारण बारीक-बारीक दाने निकल आते हैं।
घमौरी हाथ, पैरो और छाती में निकलती हैं. जिसके कारण हमारे शरीर में खुजली होने के साथ हल्की सी चुभन भी होती है. सबसे ज्यादा घमौरियां बच्चों को होती है





घमौरियों से कैसे बचा जाएं।


1. धूप में ज्यादा निकलने से बचें ।

2. शरीर को सूखा रखें ।

3. सूती और ढीले कपड़े पहनें ।

4. नहाने के बाद पाउडर लगाना बहुत जरूरी हैं ।


घमौरियां के घरेलू उपाय - घमौरियाँ का इलाज :-


1. सलाद में कच्चा प्याज खाना चाहिए।

2. आइस पैक को कपड़े में लपेट कर घमौरी वाली जगह पर लगाएं। इसे क़म से कम 5-10 मिनट तक इसे लगाएं।

3. गुलकंद और गुलाबजल मिलाकर शरीर पर लगाएं तो घमौरियां नहीं होंगी।

4. मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल मिला कर लेप त्वचा पर लगाएं ।

5. बेसन को पानी में मिला उसका लेप बना लो फिर उसे लगाने से भी आराम मिलता है।

6.  नीम और तुलसी के पत्तियों का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है.

7,  हल्दी , बेसन का उबटन लगाने से घमोरी में आराम मिलता है।


#ghamoriya ka ilaj, #ghamori ke lakshan, #ghamoriya ka upay, #ghamoriya ke gharelu nuskhe #ghamori treatment, #ghamori treatment for baby, #prickly heat remedies in hindi, #ghamori treatment in hindi, #prickly heat treatment

पेट की चर्बी कम करने के नुस्खे और उपाय

मोटापा आज कल हर व्यक्ति की समस्या बनता जा रहा है। इसका कारण है लोगो का पूरे दिन बैठा रहना जिसका हमारे स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है।




इसका असर हमारे पेट पर सबसे पहले दिखाई देता है। पेट पर चर्बी जमा हो जाती है जिससे हमारा शरीर बेकार दिखाई देता है ये आजकल की ख़ानपान के कारण होता है ।

पेट की चर्बी कम करने के नुस्खे और उपाय - Pet ki Charbi Kam Karne Ke Upay :-


पेट की चर्बी को कम करने के लिए लोग पता नही कितने तरीके अपनाते हैं फिर भी पेट की चर्बी कम्र कर पाना उनके लिए मुश्किल होता है। हम आपको घरेलू नुस्खा बताएगे, जो बढ़े हुए पेट की चर्बी को कम करेंगे।

1. ग्रीन टी (Green Tea) :-  ग्रीन टी पिए। ग्रीन टी में एंटीआक्सीडेंट्स होते है जो पेट की चर्बी कम करने में सहायक है।

2. नींबू (Nimbu) :- नींबू में साइड्रिक एसिड होता है जो पेट की चर्बी कम करने में कारगर तरीका है।

3. एक्सरसाइज (Exercise) :- रोज एक्सरसाइज जरूर करें। योगासन करें। सुबह शाम वॉक करे।

4. पानी (Water) :- खाने के तुरंत बाद पानी ना पिए।





5. विटामिन सी :- विटामिन सी शरीर में रक्त के प्रवाह को ठीक करता है। इसलिए संतरा, मौसमी आदि फल खाने चाहिए .

6. फाइबर युक्त भोजन :- अनाज, पपीता, अनानास, सेब आदि आपके पाचन तंत्र को तंदुरुस्त रखते हैं। 

7. खाने में मीठे और नमक का प्रयोग कम करें.

8. तनाव से बचें


#pet ki charbi kam karne ke upay, #pet kam karne ke gharelu totkay, #jaldi pet kam karne ke upay, #pet kam karne ki dua, #pet ka vajan kaise ghataye, #pet kam kaise kare tips in hindi

हिचकी रोकने के घरेलू उपाय - Hichki Rokne ke Upay

Hichki aane ka matlab kya hota hai. hum sab yahi sochte hai ki hichki aane ka matlab hume koi yaad kar rha hai. Lekin lagatar hichki aane se bahut problem hoti hai. Isse chest aur pet muscles sikudti hai aur saans lene mein bhi problem hoti hai.

Kai baar hum hichki rokene ke liye pani pi lete hai aur pani pine ke baad bhi hichki band nahi hoti hai. Hichki aane ke kai karan ho sakte hai. lagatar hichki aana bhi ek bimari hai. Turant hichki ko rokne ke gharelu upay, ilaj, tarike, totke, tips, nuskhe.



हिचकी रोकने के घरेलू उपाय और घरेलु इलाज़ :-


1. पानी पीना (Drinking Water) :- Sabse pahle hichki ko rokne ke liye pani pina chahiye. Isse agar hichki kam hai toh turant ruk jayegi.

2. नींबू का रस (Lemon):- Agar hichki lagatar aa rhi hai toh ek chammach nimbu ka ras aur ek chammach shahad lekar ise mix kare aur chaat le.

3. एक चम्मच चीनी (Suger):- Hichki ko rokne ke liye chini bhi use hoti hai. Ek chammach chini ka sevan karne se hichki aana band ho jayegi.

4. शहद (Honey) :- Hichki aane par ek chammach shahad khana chahiye. Isse hichki ruk jayegi.

5. चॉकलेट पाउडर (Chocolate Powder) :- Hichki aane par aadha chammach Chocolate Powder khane se hichki turant band ho jati hai.

6. चबा-चबा कर खाएं :- Khana tej - tej khane se bhi hichki aa jati hai. Isliye khana chaba -chaba kar khana chahiye.

हिचकी रोकने के उपाय, hichki rokne ke upay, hichki rokne ke upay in hindi, hichki ka ilaj in hindi, hichki ke gharelu nuskhe

पेट में मरोड़ का इलाज और घरेलू उपाय

Pet mein marod hone par pet tight sa ho jataa hai. Pet mein marod hone ke karan pet mein kabhi - kabhi dard bhi hone lagta hai. Aksar barsat ke masuam logo ka pet kharab ho jata hai. Un logo ko jyada problem hoti hai jo bahar ka khana khate hai.

Kuch logo ko kabj ki problem hoti hai umhe bhi pet mein marod ho jati hai. Pet mein marod ko thik karne ke liye kuch gharelu nuskhe ko aajma sakte hai.



पेट में मरोड़ का इलाज और घरेलू उपाय :-


1. गुनगुना पानी पिएं।

2. कम मसाले का खाना खाएं।

3. नींबू का रस को पानी में मिलाकर पीना चाहिए इससे मरोड़ मे काफ़ी लाभ होता है।

4. पुदीना से पेट से जुड़ी समस्याओं के समाधान होता है. इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाचन क्रिया को सुधारने में भी सहायक होता है.।

5. एक दिन में 6 से 8 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए ।

6. अजवाइन में थोड़ा सा नमक मिलाकर गर्म पानी के साथ लेने से मरोड़ तुरंत ठीक हो जाता है।

7. मरोड़ होने पर अदरक का पेस्ट खाना चाहिए।

8. फलों का सेवन ज्यादा करना चाहिए।

9. 3 – 4 ग्राम मेथी को अच्छे से पिसें और इसमे धी मिक्स कर लें और फिर खाये मरोड़ कुछ ही देर में ठीक हो जाएगा।



पेट में मरोड़ के कारण, pet mein marod ke upay, marod ka ilaj, pet ke marod ke gharelu nuskhe

कफ निकालने के उपाय - कफ का आयुर्वेदिक इलाज

जेसे ही सर्दी शुरू होती है सभी को जुकाम और खाँसी की प्राब्लम होने लगती है और दवाओं के सेवन के कारण कफ छाती में जम जाता है। अगर कफ छाती में कई दिन जमा रहता है तो और भी बीमारियाँ हो सकती है। कफ के उपचार के लिए प्राकृतिक चिकित्सा बेहद ज़रूरी है।

तेज़ दवाओ के सेवन के कारण कफ छाती पर जम जाता है और जब यह सूख जाता है तो इससे निकालना बहुत मुश्किल हो जाता है। बदलते मौसम में कफ और जुकाम की परेशानी होना आम बात है। हम आपको कफ से तुरंत छुटकारा पाने के लिए घरेलू नुस्खे बताएंगे।




कफ निकालने के उपाय - कफ का आयुर्वेदिक इलाज - Cough Ka Desi ilaj in Hindi :-


1. खूजर :- खजूर कफ निकालने में सहायक है जिनको कफ की प्राब्लम है उन्हे दूध में खूजर को उबालकर पीना चाहिए। रात में 7 - 8 खूजर खूजर ले और सोने से पहले पी ले।

2. नमक का पानी :- रोज सुबह उठकर नमक के गुनगुने पानी के गरारे करें। ऐसा लगातार करने से कफ कुछ ही दोनो में ख़त्म हो जाएगा।

3. ठंडी और तली हुई चीज़े :- आपको ठंडी और तली हुई चीज़े से परहेज करना चाहिए। आपको दही, केला, चावल, ठंडा पानी और तली हुई चीज़े नही खानी चाहिए।

4. अदरक :- अदरक का छोटा टुकड़ा मुख में चूसने से कफ में बहुत राहत मिलती है। अदरक खाँसी और कफ के लिए रामबाण इलाज है।

5. दालचीनी और नींबू :- दालचीनी, शहद और नींबू को गुनगुना गर्म करके सिरप बनाकर पीने से कफ में बहुत आराम होता है।

6. तुलसी :- तुलसी की चाय पीने से भी कफ में लाभ होता है। तुलसी एक राम बाण औषधि है।

कफ के उपाय, कफ निकालने के उपाय, कफ नाशक, cough ka ilaj, kaf ka upchar, cough ka desi ilaj in hindi, कफ का आयुर्वेदिक इलाज, कफ रोग ,कफ वर उपाय

चींटी भगाने के 5 आसान घरेलू उपाय - Chiti Bhagane ke Upay in Hindi

Sabhi ghar mein chiti (ants) hoti hai. unko jaaha bhi mitha milta hai vo vahi par aa jati hai. Chiti toh hoti choti si hai par yeh bahut problem karti hai. yeh mitha ho ya namkeen, roti ho ya aur koi khane ka saman ho sab par aa jati hai.

Ek chiti aane par koi problem nahi hoti hai par jab bahut saari chiti aa jati hai toh unhe bhagana bhi muskil hota hai. Chitiyan ek dusare ko sanket deti hai. Jisse vo ek dusre ko rasta batati hai.



चींटी भगाने के आसान घरेलू उपाय - चींटी भगाने के तरीके :-


1. दालचीनी और काली मिर्च (Dalchini aur Kali Mirch) :-  दालचीनी और काली मिर्च का पावडर चीटी भागने मे बहुत सहायक है। जहां भी चीटियां हो वहां दालचीनी या काली मिर्च का पावडर को छिड़क दे, तो चीटियां नही आएँगी।

2. नींबू (Nimbu) :- नींबू बहुत काम की चीज़ है यह सेहत के लिए तो बहुत लाभकारी होता ही है पर क्या आप जानते है इससे चींटियों को भी भगाया जा सकता है। नींबू की खुशबू चींटियों को नापसंद होती है इसलिए नींबू के छिलके डालने से चीटियां चली जाती है।

3. तेजपत्ता (Tejpatta) :- तेजपत्ता किचन में इस्तेमाल होता है, तेजपत्ता भी चीटियों को भगाने का काम करता है. जहां भी चींटी हो वहाँ तेजपत्ता रख दे।

4. सिरका और पानी (Vinegar) :- सिरका और पानी मिलाकर चीटियों के आने जाने वाले रास्ते पर छिड़क दें, तो चीटियां नही आएँगी।

5. लौंग (Clove) :- शक्कर के डिब्बे में चींटी बहुत आती है अगर आप भी परेशान हो तो शक्कर के डिब्बे 3-4 लौंग डालकर रखें। चीटियां नही आएँगी।

#gharelu nuskhe for ants, #चींटी भगाने के घरेलू उपाय, #chiti bhagane ke upay in hindi, #ant in hindi, chiti bhagane ke gharelu nuskhe, #चींटी भगाने के तरीके, #chiti bhagane ki dawa

छिपकली भगाने के 8 घरेलू उपाय और तरीके - Chipkali Bhagane ka Tarika

Ghar mein chipkali ka hona toh aam baat hai. Chipkali ko har ghar mein dekha ja sakta hai. Ghar mein chipkali ko dekhte hi bahut se log chilane lagte hai.

Chipkali ghar ki deevar par ghumati rahti hai. Chipkali kisi ke upar ya khane mein bhi gir sakti hai. Jo bahut badi problem hai. Agar chipkali khane mein gir jaye toh vo khana khane layak nahi hota hai, vo jahrila ho jata hai. Jane chipkali bhagane ke aasan gharelu upay aur tarike.



छिपकली भगाने के घरेलू उपाय और तरीके :-


1. मोरपंख :- घर में मोरपंख होने से छिपकली नही आती है मोरपंख से छिपकली डरती है। इसलिए मोरपंख को घर में लगाकर रखना चाहिएं।

2. अंडे का छिलका :- छिपकली अंडे की गंध से दूर भागती हैं अंडा के छिलके को जहां छिपकली अधिक हो रखने से भाग जाती है।

3. काली मिर्च :- काली मिर्च का स्प्रे छिपकलियों को भगाने का आसान तरीका है. काली मिर्च पाउडर को पानी के साथ मिलाकर इसका स्प्रे कर दे।

4. लहसुन :- लहसुन की कलियों को घर में लटकाने से छिपकली आपके घर में नहीं आएँगी।

5. नेप्थलीन बॉल्स :- नेप्थलीन बॉल्स से छिपकलियां को घर से भगाया जा सकता है।

6. कॉफी पाउडर :- कॉफी पाउडर और तम्‍बाकू पाउडर को मिला लें, अब इसकी छोटी-छोटी गोलियां बनाकर ले। इसको छिपकलियां वाली जगह पर रख दे, इससे वो भाग जाएंगी।

7. प्याज :- प्‍याज में सल्‍फर बहुत ज्‍यादा मात्रा में होता है जिससे बुरी दुर्गंध निकलती है जो छिपकली को पसंद नही होती है प्‍याज को 2 हिस्सो मे काटकर रखने से छिपकली भाग जाती है

8. ठंडा पानी :- छिपकली पर ठंडा पानी डालने से वो भाग जाती है और दोबारा नही आती है

#chipkali bhagane ka tarika, #chipkali bhagane ke upay in hindi, #छिपकली भगाने के उपाय, #how to get rid of chipkali, #how to get rid of lizards, #chipkali bhagane ke totkay

चूहे भगाने के घरेलू उपाय - Chuhe Bhagane Ke Upay

क्या आप भी चूहों से छुटकारा पाना चाहते है? जाने चूहे भगाने के घरेलू उपाय और चूहे भगाने के तरीके। Ghar mein chuhe hone se bahut problem hoti hai. Inse bahut se bimari bhi hone ka dar rahta hai. Chuhe ghar ke kimti saman ko bhi kharab kar dete hai.

चूहो को मारने से तो और भी प्राब्लम हो जाती है, चूहे से खतरनाक संक्रामक रेबिज होने का ख़तरा होता है। आप कुछ घरेलू तरीके अपना कर चूहो से छुटकारा पा सकते है।




चूहे भगाने के घरेलू उपाय - Chuhe Bhagane Ke Upay :-


1. पिपरमिंट :- पिपरमिंट की गंध चूहो को अच्छी नही लगती इसलिए पिपरमिंट के कुछ टुकड़ों को घर के कोनों में रख दें, जिससे चूहे बाहर भाग जाएंगे।

2. पुदीना :- पुदीने की गंध चूहों से बर्दाश्त नहीं होती, इसलिए चूहों के बिल में पुदीना रख दें, जिससे चूहे बाहर भाग जाएंगे।

3. तेजपत्ता :- तेजपत्ता की महक चूहों को पसंद नहीं होती इसलिए तेजपत्ता रखने से चूहे घर में आना बंद कर देंगे।

4. फिनाइल :- फिनाइल की गोलियों को कपड़ों में रख दें जिससे कपड़ों को चूहों से बचाया जा सकता है।

5. काली मिर्च :- काली मिर्च के दानो को बिल के सामने फैला दें, जहां वे छिप रहते हैं। एसा करने से चूहे घर से बाहर भाग जाएंगे।


चूहे भगाने के घरेलू उपाय, chuhe bhagane ke upay, चूहे भगाने के तरीके, चूहों से छुटकारा, Chuhe Bhagane ka Tarika, chuhe bhagane ki dua, चूहा भगाने की दवा

खर्राटे का इलाज - खर्राटे का घरेलू उपचार - खर्राटों से छुटकारा

Snoring Treatment in Hindi, How to Stop Kharate, Kharate ka ilaj, Snoring ka ilaj. खर्राटे लेने के कई कारण होते है जैसे, एलर्जी, नाक की सूजन, जीभ मोटी होना, शराब पीना अधिक धूम्रपान करना। अगर आप खर्राटों से परेशान हैं तो इसका इलाज ज़रूर करवाना चाहिए।

खर्राटे लेना एक आम बात है, लेकिन जब यह बीमारी का रूप ले लेती है तो यह हमारे लिए बड़ी समस्या बन जाती है। खर्राटों को अच्छी आदत भी नहीं माना जाता है। खर्राटों के कारण लोगों की नींद तो खराब होती ही है।जाने खर्राटे दूर करने के घरेलू उपाय और नुस्खे.




खर्राटे का इलाज - खर्राटे का घरेलू उपचार - खर्राटों से छुटकारा :-


1. शराब पीना बंद करे :– ज्यादा शराब पीने से भी खर्राटे आने शुरू हो जाते हैं। ज्यादा शराब के सेवन से जीभ और गले की मांसपेशियां को आराम मिलता हैं। जिससे खर्राटे आते हैं।

2. हल्दी :- हल्दी बहुत गुणकारी होती है इसमे एंटी-सेप्ट‍िक, एंटी-बायोटिक गुण होते हैं. रोज रात को हल्दी वाला दूध पीने से बहुत लाभ होगा।

3. वजन बढ़ना :- वजन का ज्यादा होना भी खर्राटों का कारण हो सकता है लेटने के बाद सांस की नली दब जाती जिससे सांस लेने में होती है।

4. सोने की पोज़िशन :- सोते समय आपका सिर ऊपर होना चाहिए और आपको पीठ के बल नहीं सोना चाहिए।

5. ज्यादा थकान :- खर्राटे आने की वजह ज्यादा थकान भी हो सकती है।

6. अन्य कारण :- खर्राटे आने की वजह एलर्जी, नाक की सूजन, जीभ मोटी होना भी हो सकता है। इसमे आपको डॉक्टर की सलाह भी लेनी बहुत ज़रूरी है।

खर्राटे का इलाज, खर्राटों से छुटकारा, खर्राटे बंद करना, खर्राटे लेने का कारण, खर्राटे का घरेलू उपचार, खर्राटे कैसे रोके, खर्राटे आने का कारण, नींद में खर्राटे, खर्राटे का इलाज इन हिंदी, खर्राटे की दवा

अस्थमा का इलाज - दमा का इलाज - अस्थमा की दवा

अस्थमा ट्रीटमेंट, अस्थमा के घरेलू उपचार, अस्थमा का आयुर्वेदिक इलाज, दमा का उपचार, अस्थमा की दवा, अस्थमा का पक्का इलाज. Damma ya Asthma ke kaaran or bachav ke nuskhe upay in hindi.

Asthma ke gharelu nuskhe in hindi : - Dama yani saans rog main saas lene main preshaani hoti hai, aaiye Jaane kind cheejo se ya laaparwahi se asthma ki bimari hoti hai or isko rokne ke gharelu upay in hindi.



Asthma hone ke parmukh kaaran : - 

1. Dhool mitti se bhi dama ki bimari ho jaati hai.
2. Gale main sujan hona
3. Lambe samay se sardi khansi hona
4. Jayada matra main drinking or smoking karna.

 Asthma ki roktham ke gharelu nuskhe or upay in hindi : - 

1. Asthma ke patients ko apne khane - peene ka dhyaan rakhna hoga.

2. Rogi ko aisa aahar lena cahiye jisse kabz na bane.

3. Samay samay par anima lena cahiye jisse pet saaf rahega.

4. Rogi ke sir par thande paani ki pattiyan badal badalkar rakhe, isse sharir ke uppri bhag, sir or dono fefdo ki thakawat dur hoti hai.

5. Jab rogi ko asthma attack pade to rogi ka hath or pair garam paani main dubana cahiye.

6. Garam paani main nilgiri ka tel milakar naak, gale, chati main bhaap dena cahiye.

7. Rogi ko 15 se 20 minutes bhaap deni cahiye, ek thandi chadar rogi ki chati par lapetkar usko lita dena cahiye.

8. Rogi ko samay samay par garam paani yani garam pey padarth yani adarak, tulsi, shahad ka ghada dena cahiye.

9. Rogi ko heavy bhojan nahi dena cahiye, heavy diet se rogi ko attack pad sakta hai.

10. Patient ko lagataar exercise ki aadat dalni cahiye.

#asthma ka ilaj, #asthma ka ilaj in hindi, #asthma treatment in hindi, #asthma ka desi ilaj, #asthma ka gharelu ilaj, #asthma ka gharelu upchar, #dama ka upchar

मलेरिया के लक्षण व उपचार - Malaria ke Lakshan

मलेरिया के लक्षण, मलेरिया के लक्षण व उपचार, मलेरिया बुखार के लक्षण, मलेरिया ट्रीटमेंट। मलेरिया मादा 'एनोफिलीज' मच्छर के काटने से होता है। भारत में हर साल मलेरिया का प्रकोप रहता है। मलेरिया के मच्छर गंदे पानी में पनपते हैं। मलेरिया के मच्छर रात में ज्यादा काटते हैं।

मलेरिया में एक दिन छोड़कर बुखार आता है, और ठंड लगती है। मलेरिया एक जानलेवा बीमारी है। जब हमें कोई मलेरिया संक्रमित मच्छर काटता है, तो परजीवी हमारे शरीर में छोड़ देता है। मलेरिया में सिर दर्द, उल्टी भी होती है।




मलेरिया के लक्षण व उपचार - Malaria ke Lakshan :-


मलेरिया फैलने का कारण :-  मलेरिया मादा 'एनोफिलीज' मच्छर के काटने से होता है। मलेरिया में ठंड लगकर तेज बुखार आता है।

मलेरिया के लक्षण - Malaria ke Lakshan :- 

1. तेज बुखार होना

2. कमजोरी महसूस होना।

3. तेज बुखार के बाद पसीना आना

4. उल्टी आना

5. सिरदर्द होना

6. जी मचलना

7. 1 या 2 दिन बाद बुखार आते रहना।

मलेरिया के उपचार - Malaria ka ilaj :-  बुखार होने पर तुरंत खून की जांच करवानी चाहिए ताकि पता लग सके। बुखार मलेरिया भी हो सकता है। अगर आपको मलेरिया हो तो फौरन डॉक्टर को दिखाएं।

मलेरिया से बचने के उपाय :- 

1. घर आस-पास पानी का जमा न होने दें।

2. घरों के आसपास गंदगी न होने दे।

3. सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें।

4. पानी वाले बर्तन को ढककर रखें।

5. मच्छर भगाने के लिए कीटनाशक का छिड़काव करे।

malaria ke lakshan,  malaria symptoms in hindi, malaria ka ilaj, malaria ki dawa, malaria ka ilaj in hindi, malaria ka gharelu upchar, prevention of malaria in hindi

डेंगू का इलाज - लक्षण और उपचार

डेंगू के लक्षण, डेंगू बुखार के लक्षण, डेंगू बुखार के उपचार, डेंगू के लक्षण और उपचार, डेंगू के घरेलू उपचार, डेंगू बुखार के घरेलू उपचार, डेंगू फीवर,  डेंगू के लक्षण क्या है, डेंगू का इलाज

डेंगू मच्छर के काटने से होता है। डेंगू एडीज नामक मादा मच्छर के काटने से फैलता है।  डेंगू के मच्छर ज़्यादातर दिन के समय काटते है। डेंगू के मच्छर साफ पानी में पनपते हैं। डेंगू बरसात के मौसम में सबसे ज्यादा होता है।




डेंगू का इलाज - लक्षण और उपचार - Dengue Treatment in Hindi :-


डेंगू के लक्षण :-

1. शरीर, मांसपेशियों और जोड़ों में बहुत दर्द होना।
2. कमजोरी आना
3. उल्टी होना
4. आंखों में दर्द होना
5. सांस लेने में तकलीफ होना
6. गले में हल्का दर्द होना
7. शरीर पर लाल धब्बे होना
8. खांसी, ज़ुकाम होना

डेंगू से बचाव :-

1. घर के आसपास साफ-सफाई रखे।
2. शरीर को पूरी तरह ढककर रखें।
3. कूलर, टायरों, गमलों में पानी जमा न होने दें।
4. मच्छरदानी का प्रयोग करना चाहिए।
5. खिड़कियों व दरवाज़ों में जाली लगवायें।
6. फूल बाजू की शर्ट, पैंट पहने।
7. मच्छर मारने की दवाओं का प्रयोग करें।

डेंगू का इलाज :-

1. डॉक्टर की सलाह लेकर पैरासिटामोल ले सकते हैं।
2. मरीज को आराम करने दें।
3. गिलोय का रस पिलाए
4. नारियल पानी पिएं।
5. हल्का खाना खाएं।
6. डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।


#dengue treatment in hindi, #dengue ke lakshan, #dengue fever in hindi, #dengu ka ilaj, #dengue ke lakshan in hindi, #dengue ke symptoms.

चश्मा हटाने के घरेलू उपाय और नुस्खे - Chasma Hatane ke Upay

आजकल छोटे- छोटे बच्चे भी चश्मा लगा रहे है। चश्मा लगना अब एक आम बात हो गयी है। आजकल हर दूसरे व्यक्ति को चश्मा लगा हुआ है। बढ़ती उम्र में भी आंखों की रोशनी कम होती है। कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन, टेलीविज़न, ज्यादा देर तक पढ़ाई करने से आँखे खराब हो रही है।




चश्मा हटाने के घरेलू उपाय और नुस्खे - Chasma Hatane ke Upay :-


1. आंखों की एक्सरसाइज :- आंखों की एक्सरसाइज करनी भी बहुत ज़रूरी होती है। आंख को ऊपर-नीचे और दाए-बाए घुमाएं।

2. हरी पत्तेदार सब्जियां :- आंखों के लिए कैरोटीन बहुत अच्छा होता है यह तत्व हरी पत्तेदार सब्जियों में भरपूर मात्रा में पाया होता है। बच्चों के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां बहुत फायदेमंद है।

3. गाजर :-  गाजर में विटामिन ए, सी, के ,बी, पोटैशियम, लौह, मैंगनीज पोषक तत्व होते है इसलिए गाजर खाने से आंखों की रोशनी तेज होती है।

4. सेब का मुरब्बा :- सेब का मुरब्बा खाने से और फिर बाद में दूध का सेवन करने से आखों की रोशनी तेज होती है।

5. एलोवेरा का जूस :- एलोवेरा का जूस पीने से आखों की रोशनी तेज होती है।

6. बादाम :- सुबह दूध के साथ भीगे बादाम खाने से आंखों की रोशनी तेज होती है। 


#how to increase eye power, #chasma hatane ke upay in hindi, #chashma hatane ke upay, #how to increase eyesight in hindi, #how to improve eyesight in hindi, #how to increase eye power in hindi, #how to remove specs